हस्त रेखा ज्ञान

बिना गुरु के कोई दूसरे किनारे पर नहीं जा सकता.......

हस्तरेखा विज्ञान, जिसे पाम रीडिंग, काइरोमेंसी या चिरोलॉजी के रूप में भी जाना जाता है, हथेली के छद्म विज्ञान अध्ययन के माध्यम से भाग्य-बताने का अभ्यास है। यह प्रथा पूरी दुनिया में कई सांस्कृतिक विविधताओं के साथ पाई जाती है। जो लोग काइरोमेंसी का अभ्यास करते हैं, उन्हें आम तौर पर हस्तरेखाविद्, हाथ के पाठक, हाथ के विश्लेषक या चिरोजोलिस्ट कहा जाता है।

हस्त रेखा ज्ञान

आपका खुश रहना ही आपके दुश्मनो के लिए सबसे बड़ी सजा है।

हस्त रेखा विज्ञान के दो भेद माने जाते है. जहाँ हाथ की रेखाओं से व्यक्ति के भूतकाल और भविष्य की घटनाओं का आकलन करने में सहायक होती है वाही हाथ एवं उँगलियों की बनावट से व्यक्ति के स्वाभाव, उसका कार्य क्षेत्र इत्यादि का आकलन करने में सहायक होती है.